द टेल ऑफ़ किन्चुलका Part 10

विकास भान्ती 'कुलश्रेष्ठ'

द टेल ऑफ़ किन्चुलका Part 10
(104)
पाठक संख्या − 2377
पढ़िए

सारांश

ऐसा लग रहा था जैसे अब मानव का अंत निकट ही है । प्रस्तर के मरने की खबर जल्दी ही दुनिया में फ़ैल चुकी थी । हर देश किन्चुलका की दी हुई चेतावनी से चिंतित तो था पर कुछ कर नहीं सकता था । जल्दी ही दूर खड़े ...
Neeru Agarwal
बहुत अच्छी कहानी है।।।रहस्य ,रोमाचं से भरपूर।
Tullsiram Jaiswal
बहुत सुंदर रचना है धन्यवाद आपका आगे भी ऐसी रचनाएं पढ़ने को मिलेंगी इसी आशा के साथ ़धन्यवाद
Neelima Ghosh
रोचक ,अगला अंक जल्द दें
रिप्लाय
anupam kumar
बहुत खूबसूरत...
Anita
kinchulka matlab kechua hosakta h lekin jab wo samudra me dub kar nhi mara to pani se kaise marega ??? waiting for next part.
Riya mittal
very nice and interesting story
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.