दो लक्ष्मीयों के बाद कुबेर तो आते ही है.

मनीषा गौतम

दो लक्ष्मीयों के बाद कुबेर तो आते ही है.
(55)
पाठक संख्या − 7488
पढ़िए

सारांश

आज शरद के घर चौंक की पूजा(मध्य भारत में बच्चे के जन्म के बाद की सबसे बडी पूजा का नाम) है पूरे घर में चहल पहल है। ढोलक की थाप के साथ मोहल्ले की औरतों की गाने की आवाज़ गूँज रही थी। सज रही है तेरी अम्मा ...
Seema Thakur
लालसाएं कभी पूरी नहीं होती इंसान की।बैऔलाद को एक बेटी की भी दरकार रहती है, बेटी हो जाए तो बेटे की इच्छा होने लगती है,एक बेटा हो गया तो ज्यादातर घर की बड़ी बूढियां दूसरे बेटे का आशीष देने लगती हैं फिर चाहे बुढ़ापे में दोनों टाइम खुद चूल्हा झोंकना पड़े।अब कोई फर्क नहीं पड़ता संतान बेटी है या बेटा।
Think about it
बिलकुल करती हूं व्रत अपने पति के लिए क्योंकि जो गुण आपने अपने पति में बताए ,मेरे पति भी उन्ही गुणों से भरपूर हैं
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.