दो दिलों को पूरा करे..वही तो इश्क़ है...

सिमरन जयेश्वरी

दो दिलों को पूरा करे..वही तो इश्क़ है...
(190)
पाठक संख्या − 9050
पढ़िए

सारांश

रात का गहरा अंधेरा। सड़क के आस-पास लगे बड़े-बड़े खंभो पर बड़ी-बड़ी स्ट्रीट लाइट्स। गहरा सन्नाटा जिसमे शांत खड़े व्यक्ति को उसकी सांसे भी साफ तौर पर सुनायी दे जाए। बेधड़क सी श्रेया अपनी महंगी ऑडी को दौड़ाए जा ...
Ranjeet Kumar Barnawal
good
रिप्लाय
Arc Raj
achi kahani par badi jaldi end kar diya
रिप्लाय
Vidhi Agrawal
You're really a good author and good person.
रिप्लाय
Monika Jibhenkar
i am eagrly waiting for 2 part
रिप्लाय
Aarti Gupta
nice story
रिप्लाय
desi style entertainment
मस्त
रिप्लाय
ravinder agarwal
दूसरे भाग का बेसब्री से इंतज़ार।
रिप्लाय
sunny
good
रिप्लाय
Deepak Rathor
अति सुंदर रचना है
रिप्लाय
Divyansh Singh
👌👌👌👌👌
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.