दोरंगी कमीज़

Vishnu Jaipuria

दोरंगी कमीज़
(50)
पाठक संख्या − 1947
पढ़िए

सारांश

दोरंगी कमीज
संतोष सुधाकर
क्या खूब लिखा है आपने । एक दोरंगी पहने तो गरीबी और दूजा दोरंगी पहने तो फैशन, सही कहा 👌👍
Vivek Malik
आपकीं कहानी का अर्थ बहुत गूढ़ है ।
रिप्लाय
Pradeep Gupta
दो रंग की कमीज , एक गरीब मां की और 4 रंग की कमीज एक रईस बाप की आज अंतर समझ आया था। अद्भुत शानदार जिंदगी का असली सार यही है यह जो अंतर है बस यही है जिंदगी।
जया शर्मा
बहुत ही सधे हुये शब्दों में आपने अमीरी और गरीबी का परिचय दिया ...
Mukesh Verma
शब्दों के द्वारा गरीबी का सुन्दर चित्रण
indu sharma
वाह बहुत शानदार कहानी गरीब की रसोई और के कपड़ों का सुन्दर चित्रण किया है मन को छु गयी
सरोज वर्मा
अमीरी और ग़रीबी के बीच का confidence है,नई जींस को अमीर फटवाकर और पैबंद लगाकर पहनता है और गरीब अपनी गरीबी छुपाने के लिए पैबंद लगाता है।बस confedence का फर्क है।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.