दि परफेक्ट मर्डर

विजय कुमार सपत्ती

दि परफेक्ट मर्डर
(499)
पाठक संख्या − 61289
पढ़िए

सारांश

रविवार शाम : योगेश ने अमर को फ़ोन किया . “मैं रात ९ बजे तक इंदौर पहुँच जाऊँगा. तुम एअरपोर्ट पर मिलने आ जाना. हम वही बात करेंगे” . अमर ने कहा “ठीक है बॉस ..!” रविवार रात : अहमदाबाद से आने वाली फ्लाईट ...
Kamal Soni
ek shak ne 2 jindgiya mita di
Sunil Sahu
कहनी बहुत ही अच्छा था goob job
Kundan Kumar Goswami
बहुत अच्छी कहानी।
Akkii
bahut hi dardnaak kahani,,,,,,
Rana Shaheen
mind blowing. sach karwa hota hi. tb aisa, hi anjaam samne ata hi.
Devender singh
bahut achhi bt sad Or dardbhari kahani
kapil
best story h bs insan ko Bina soche kuch nhi krna chiye jldi me vo ek galti sab khtam kar deti h
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.