दक्षिता : एक अद्भुत प्रेम कथा

निशांत बाजपेई

दक्षिता : एक अद्भुत प्रेम कथा
(205)
पाठक संख्या − 9571
पढ़िए

सारांश

प्रेम की कोई सीमा नही होती, कोई रूप या कोई उम्र नही होती है। प्यार अमर होता है, ओर यही नीव है इस कहानी की। यह मात्र एक कहानी है तो इसे कहानी के तौर पर ले।
Vimalkumar Jain
achhi hai
रिप्लाय
Rachana Wadekar
behtareen likha hai
रिप्लाय
Ramdulare Patel
good story
रिप्लाय
Reema Bhadauria
Very nice 😊😊
रिप्लाय
Dinesh Kumar Shukla
अच्छी कहानी है पर जरा लम्बी है। कहानी नहीं बल्कि उपन्यास
Jyoti Bharti
agla bhag aa gya h kya
रिप्लाय
Manvendra Kaurav
मज़ा नही आया
Nisha Singh
काश कि ऐसी हकीकत भी होती....
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.