थ्री लीजेंड विथ वन एंजेल

मनोज वेदप्रकाश पांडेय

थ्री लीजेंड विथ वन एंजेल
(144)
पाठक संख्या − 5951
पढ़िए

सारांश

यह कहानी है मृत्युंजय पांडेय और उसके दोस्तों की जो विज्ञान से अपार प्रेम करते हैं, समाज से उपेक्षित इन छात्रों को विज्ञान की शरण में ही शांति मिली , अपने साधारण जीवन में कई असाधारण प्रयोग करते हुए वह अपनी कमजोर प्रयोगशाला के साथ जीवन यापन कर रहे थे , एक दुर्घटना की वजह से उनका जीवन बदल जाता है और वे लोग मातृभूमि की सेवा करने फ़ौज का हिस्सा बन जाते हैं , जो उन्होंने कभी नहीं सोचा था, लेकिन यह उनका सबसे अच्छा निर्णय साबित हुआ और वे लोग देश सेवा में समर्पित हो गए , सेना में गुप्तचर विभाग और भारतीय प्रशाशन के द्वारा उन्हें असीमित साधन और उपकरण प्राप्त हुए जिनकी मदद से वह इस देश के महानतम सुरक्षा उपकरण निर्माता और विध्वंसक हथियार उत्पादित करते हुए , सेना में गुप्तचर पद पर काम करने लगे , इन तीन दोस्तों में से एक से एंजेल की मुलाकात होती है , इसी तरह दूसरी तरफ रोहित नामक एक और मेधावी छात्र था परन्तु दुर्घटनावश उसका सब कुछ छिन जाता है और गलती से वह एक आतंकवादी बन जाता है मगर फिर भी वह आतंकी बनकर भी देश के दुश्मनों को ही मारने लगता है , इस प्रकार मृत्युंजय और रोहित दोनों अपने-अपने तरीके से देश सेवा करने लगे , बस एक ने सही रास्ता चुना और एक ने गलत , दोनों ही महान वैज्ञानिक और महान योद्धा हैं , और एक दिन उन दोनों का सामना हो जाता है , फिर कैसे वह दोनों इस विपरीत परिस्थिति का सामना करते हुए देश सेवा करते हैं यही है कहानी। official facebook page - https://www.facebook.com/themkbteam/
Davinder Kumar
आपके विचारों से प्रभावित हूं
pratiksha Pandey
abi tak maine jitni bhi khaniya pdi ye unsab me se sbse acchi thi.
रिप्लाय
Manoj Kumar
bahut hi kamal ki kahani hai, behad rochak aur umda, jivan ke har pahluon ko chhuti hui, itni achchhi kahani hai ki uske hisab se review de pana sambhav nhi hai, agale bhag ka intezaar rahega
रिप्लाय
Tullsiram Jaiswal
जय हिन्द वन्दे मातरम बहुत सुंदर रचना है इसके आगे भी जारी रहेगी या इतना ही
रिप्लाय
Shalini Dubey
nice story line up
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.