तेरी नजरों से क्या जादू-मन्तर हुआ

राहुल द्विवेदी

तेरी नजरों से क्या जादू-मन्तर हुआ
(29)
पाठक संख्या − 1937
पढ़िए

सारांश

तेरी नजरों से क्या जादू-मन्तर हुआ । एक कतरा गिरा औ समन्दर हुआ ।। खूबसूरत ग़जल हो गयी जिंदगी ; तुम मिले तो मुकद्दर भी शायर हुआ । अश्क बनके लहू आ गया आँख से ; जाने क्या हादसा दिल के अंदर हुआ । जिससे ...
Harvin Solanki
adabhut
रिप्लाय
Neelima Sahu
nice👌👌
रिप्लाय
Yogi Rai
bhut sundar
रिप्लाय
tejal prajapati
ati uttam...
रिप्लाय
नितीश सिंह
कुछ तो बात है आप मैं । लाज़बाब...!
रिप्लाय
धर्मेंद्र विश्वकर्मा
लाजवाब जनाब
रिप्लाय
sneha
nice
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.