तुम से फिर मैं

अमित शर्मा

तुम से फिर मैं
(18)
पाठक संख्या − 2400
पढ़िए

सारांश

शेर
Mrugtrushna* *Tarang
कुछ लफ़्ज़ों में खुद को बयां करने का हुनर क्या खूब लिखा है। सराहनीय है। वाह,🙌
रिप्लाय
Sudhir Kumar Sharma
वाह वाह
रिप्लाय
Kavita Chaudhary
beautiful sir
रिप्लाय
Ameen Rizvi
ye kya tha
रिप्लाय
आशीष
👌
रिप्लाय
Nidhi Pandey
👌👍
रिप्लाय
Archana Rawat
बहुत बढ़िया
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.