तीसरी आँख

Neha Sharma

तीसरी आँख
(10)
पाठक संख्या − 140
पढ़िए

सारांश

आज उसने शहर से दूर उस सफेद बंगले पर निगाहें टिकाए हुई थी। अब वह बस मौका मिलते ही बंगले पर हाथ साफ करने की ताक में था। तकरीबन बीस-बाईस साल का वह लड़का दिखने में गोरा चिट्टा, मोटी- मोटी काली आंखें सफेद ...
SHAILENDRA DUBEY
लाज़वाब!!!👌👌👌👌👌
रिप्लाय
Shyamkumar Hardaha
very nice
रिप्लाय
Anjani Tiwari🇮🇳
👍🏼👍🏼💐💐
रिप्लाय
Dev ઠક્કર.
સુંદર...
रिप्लाय
bhagirath choudhary
बहुत सुन्दर
Anuradha Saxena
just wauuu 👌👌👌
रिप्लाय
Jitendra Moslapuriya
very nice story best of luck
Damini
अच्छी कहानी लिखी है आपने
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.