तरस

मनमोहन कौशिक

तरस
(81)
पाठक संख्या − 7574
पढ़िए

सारांश

भीड़ ने उसे दबोच लिया।मुख्य सड़क से गलियों में और गलियों से मुख्य सड़क पर भागते-भागते जब वह हांफ गया तो पकड़ लिया गया। भीड़ में से एक बोला-"बच्चा है साहब छोड़ दो।" तब तक उसके पीछे भागता शोर मचाता वह आदमी ...
Manu Prabhakar
दिल भर आया।👌🙏
Varinder Kaur
superb 👌👌👌👌👌👌👌 story
Rajkumari Mansukhani
v vheart touching asli eid manai
रिप्लाय
Sunita Verma
बहुत ही अचछी कहानी थी ।
रिप्लाय
Samta Parmeshwar
वाह! कभी कभी जो दिखता है वह वास्तविकता नहीं होती।
रिप्लाय
Ayush kumar
mujhe climax samajh nahi aaya
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.