झाड़ू वाला

नीरू गुलाटी

झाड़ू वाला
(51)
पाठक संख्या − 9678
पढ़िए

सारांश

“ 45 साल हो गये एक ही सड़क पर झाड़ू लगाते लगाते । एक ही रास्ता , एक ही समय , बिनानागा , लगातार सुबह शाम झाड़ू लगाता हूँ मैं । पूरी ईमानदारी के साथ । आने जाना वाला कोइ कह नही सकता कि ये सड़क उसने कभी ...
Nitin Singh Bhandari
bahut kuch sikh deti hui apki ye kahani nice story mem
Beena Awasthi
सामाजिक मानसिकता को दर्शाती एक बढ़िया कहानीँ
रविन्द्र
शिर्षक ही काफी था पसन्द आने के लिए।पूरी रचना ने उसपे चार चांद लगा दिया
Rashmi
bahut achhi lekhan saily
विनीत शर्मा
बहुत बढ़िया लेखन शैली। कृपया आप मेरी कहानियां पढ़कर मेरा मार्गदर्शन कीजिये।
Damini
दिल को छू जाने वाली कहानी है बहुत ही सुंदर है
Deepak Dixit
अति सुन्दर
Pritam Sharma
भारत की सच्चाई.....
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.