जो जिसका था नसीब अंतिम भाग-5

शहला अंस।री

जो जिसका था नसीब अंतिम भाग-5
(92)
पाठक संख्या − 3985
पढ़िए

सारांश

घर मे शादी की तैयारी ज़ोरों पर थी। घर भी डेकोरेट हो रहा था। रुबाब ज़्यादातर अपने कमरे में ही बंद रहती। कुछ था जो रुबाब महसूस कर रही थी लेकिन वो समझ नही पा रही थी,,,,,,
kittu kia
bilkul jo jiske nsb m hota h use bhi milta h
रिप्लाय
sudha tiwari
speechless
रिप्लाय
RuchiRakesh Tripathi
Awesome
रिप्लाय
Deepak Kumar
👌👌👌
रिप्लाय
Muhammad Ali Raza
Osm story dear
रिप्लाय
Dipika Singh
lovely story
रिप्लाय
dinesh kadam
behatarin...shaandaar Kahaani
रिप्लाय
Usha Garg
शहला जी अच्छी रचना है अंत और भी अच्छा पता नही आज भी लड़के ईर्ष्या में तेजाब फेंक कर लड़की की जिंदगी बर्बाद क्यों करने पर तुले है
रिप्लाय
anusuiya
bhot hi badiya
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.