जीवन

प्रियंका कुमारी

जीवन
(3)
पाठक संख्या − 14
पढ़िए

सारांश

कुछ लिखने जैसा बडा़ काम किया नही मैंने... मैं कुछ लिख सकू इतना कभी सोचा नही मैंने.. मैं स्वंय कौन हुँ नही जानती... अभी बहुत दुर जाना है मुझे.. पर हा मैरे दोस्त बहुत बेहतरीन है... हर मंजिल पा लें वो ...
Kapil Tiwari
शानदार
रिप्लाय
शैलेश सिंह
वाह, दिल से निकली सुंदर अभिव्यक्ति।।।
रिप्लाय
Sunil Jaiswal
very good
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.