जिद

Poonam Katriar

जिद
(7)
पाठक संख्या − 66
पढ़िए

सारांश

प्रेम के जिद में नामुमकिन भी मुमकिन हो गया.
संतोष सुधाकर
खुबसूरती से लिखी दशरथ मांझी की सत्य कथा 👌👍
मनमोहन कौशिक
कमाल की कहानी है ये कुछ रंग और भरे जाएं तो ओर भी सुंदर हो सकती है।बधाई।
रिप्लाय
Mithilesh Kumari
अदम्य साहसी मांझी को कथ्य और शिल्प से उजागर करने की कला सराहनीय है।
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.