चुड़ैल (भाग-1)

Rajendra Kumar Shastri 'Guru'

चुड़ैल (भाग-1)
(53)
पाठक संख्या − 5330
पढ़िए

सारांश

एक ऐसी कहानी जो आपको सोचने पर मजबूर कर देगी. कृपया कहानी के टाइटल से यह अंदाजा ना लगाए की इस कहानी में केवल मनोरंजन या डर ही है. यह हर घर की कहानी है इस लिए कहानी के सभी भागो को पढ़े. वैसे भी आप सभी को पता है मैं मनोरंजन के लिए नहीं लिखता कोई न कोई सन्देश मेरी कहानियों में जरुर छिपा होता है. अत: मेरे पाठक मुझे गलत ना समझे आपको इस कहानी में वो मिलेगा जो आजतक आपको प्रतिलिपि पर नहीं मिला. ( गुरु)
Gotu
अरे वाह सर बस अब इसी ही कहानी में मन रहेगा 😆😂😋😮😮😮 सच्ची में सर बहुत इंटरस्टिंग है
POONAM SHARMA
Mujhe oron se ht kr ak alg andaj me lgi ye story to accha lga
CP Jangra
सही डरा लेते हो यार।
रिप्लाय
अमित कुमार
डर के भाव को बहुत अच्छा समेटा है आपने शब्दों में ,
रिप्लाय
Bala
एक अच्छी शुरूआत......
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.