चीख-2

वर्षा श्रीवास्तव

चीख-2
(129)
पाठक संख्या − 10208
पढ़िए

सारांश

"किसी बात पर आंख बंद करके विश्वास करना जितना बड़ा अंधविश्वास है न उतना ही बड़ा अंधविश्वास है हर बात को आंख बंद करके नकार देना। अंधे तो दोनो ही हुए...
Anuj Shrivastav
interesting and horror.
Pragya Pandey Tiwari
रोगटे खड़े हो गए कहानी पढते पढते
Nirupa Verma
बहूत सुदंर मैम,,,सत सत नमन....
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.