चलो भगवान् बेचते हैं

SURYA RAWAT

चलो भगवान्  बेचते हैं
(68)
पाठक संख्या − 2903
पढ़िए

सारांश

( सच्चाई से परिचय कराती कांता की कहानी... बहुत पसंद आएगी आपको ) कांता अपने ऊपर के दो बटन खोलकर लोगों को रिझाती थी , एक दिन बस्ती में ख़बर फैली कि , इन सभी आदमी लोग को.....
Reshma saifi
rula dia bilkul kahani ne ......umda kahai👍
Sardar ji
अति मार्मिक
Anil Kumar
मुझे तो शब्द ही नहीं मिल रहे हैं कमेंट्स करने के लिए मे तो बिल्कुल ज़ीरो हू लग रहा है
Ritu Pant Madhwal
hmare desh m yhi sb hota rhega.gareebi bhukhmari or swasthya sewao ka abhav.
स्वाती श्रीरामे
बहुत ही दर्द भरी कहानी ... निज दर्शी ... आँसू निकल आए ... 👌 👌
Deepak SINGLA
एक एक चित्र आंखों के सामने चल रहा था, बहुत ही खूबसूरत ढंग से प्रस्तुत की गई है गहरी कहानी
S S TIWARI
डेनियल व दिनेश 2विपरीत,रोजी का संदेहास्पद चित्रण,देश की छवि को बट्टा लगाती कहानी ।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.