गरीबी में क्यों जीते हो ?

श्रीपूनम जोधपुरी

गरीबी में क्यों जीते हो ?
(58)
पाठक संख्या − 7887
पढ़िए

सारांश

रमेश अपनी शादी के वक्त बेरोजगार था | उसने सोच रखा था कि पहले वह गीता से शादी करेगा , फिर वह कोई न कोई काम जरूर करेंगा । रमेश की शादी उसके पिताजी ने बहुत ही साधारण तरीके से कर दी | रमेश भी जानता था कि ...
ram was das
prernadayak Kahani Hai Naukri Karne Se Achha Vyapar kijiye
Vishal Suriya
behtarin aatm katha super👌👌👌👌👌
seema pal
वाह क्या बात है superb
Chaudhary Thakran
मकसद से भटकी हुई कहानी
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.