खेल खेल में

सूरज प्रकाश

खेल खेल में
(196)
पाठक संख्या − 46929
पढ़िए

सारांश

पहले अपना परिचय दे दूं। निधि अग्रवाल। उम्र 24 बरस। रहने वाली पटियाला की हूं लेकिन पिछले एक बरस से पुणे में हूं। साइकॉलोजी में एमए और एचआर में एमबीए हूं। एक बड़ी कंपनी में काम करती हूं। अच्‍छा रुतबा, ...
Vaani Ji
Facebook dosti soch samjh kar karni chaye...ek bujarg ka ek ladki mei haad se jyada dilchadpi bhaut ache sanket nhi dete..koi kisi ki madad bina matlab nahi karta...nidhi ka bhi jhooti kahani bannakar aise karna galat hai..aise hi kisi ko phone number aur bank account detail dena fir madad lena..ye sab bhaut risky tha..kaal ko koi samne wala insaan aise madad karke bhaut bada fraud kar sakta hai..hum ladkiyan aur ladke jitna jaldi samjh le acha hai kai baar human trafficking, criminal aur drug dealer bhi Facebook par makhota laga kar bethe rehte hain..nidhi ko tu dhik bujarg vyakti mil gaya haqeekat mei iss trah ke khel ka ghatak parinam ho sakta hai...
रिप्लाय
अनुश्री त्रिपाठी मिश्रा
किसी की फीलिंग्स से इस तरह खेलना अच्छी बात तो नहीं , पर कहानी अच्छी थी
रिप्लाय
lata Bhardwaj
Amazing .....Sir..
रिप्लाय
Vibhor Gaur
वाह, कथानक ने बांध कर रख दिया। लाजवाब। मैने घर पर कहानी को पढ़ना शुरु किया था, मगर काम के लिए भी निकलना था, कहानी की उत्सुकता इतनी ज्यादा थी कि रेड लाईट के सिग्नल पर रुक कर गाड़ी साईड लगाकर कहानी पूरी करी, रुका ही नहीं जा रहा।
रिप्लाय
Varinder Kaur
sir bhut acha lekha Apne aj kal aksar esa hota hy
रिप्लाय
Krishna Khandelwal singla
अच्छी कहानी,,,, लेकिन अंत कुछ ठीक नहीं लगा।
रिप्लाय
चौधरी साहब
पढ़ते पढ़ते साढ़े तीन बार नींद आ गई 😜 Buy the way best of luck for next time
Davinder Kumar
सूरज प्रकाश जी आपका लेखन अत्यंत उच्च कोटि का है आपको बहुत-बहुत बधाई
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.