खायो घणो पर मजो नी आयो

pavan patidar

खायो घणो पर मजो नी आयो
(7)
पाठक संख्या − 299
पढ़िए

सारांश

खायो घणो पर मजो नी आयो शदियों का सीजन है तो बात शादी से ही शुरू करते है, सीजन इस लिए कहने में आता है क्योंकि जो माहौल शादियों का भारत मे है वो कही भी नही होगा, शादियों के शुरू होते ही बाकी सीजन में ...
Sunita Veer
Swagat yogya rachna
रिप्लाय
Kavita Babel
Sach hai soch badali hi chahiye nice thoughts
रिप्लाय
Neha Mishra
बिल्कुल सही लिखा है आपने 👌👌👌
रिप्लाय
Anurag Chaturvedi
adbhut
रिप्लाय
Usha Joshi
एक विदेशी होने के बाद कितना सूज बूझ का परिचय दिया है ।
रिप्लाय
POOJA sharma
Bahut khub likha hai 100/such....
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.