खर्च आधा आधा

ShaliNi ShaRma

खर्च आधा आधा
(3)
पाठक संख्या − 16
पढ़िए

सारांश

अब शादी दोनों की है, तो खर्च भी दोनों का होना चाहिए। यह बात अब पराग को भी समझ आ गयी थी।
Davinder Kumar
बराबरी की बात पर वर पक्ष वाले बदक क्यों जाते हैं
आशिष पण्डित
शालिनी, आप कहानी को थोड़ा देखे आपने अपने जिस ब्लॉग से कॉपी किया है उसके कमेंट भी आ गए है आप उसे edit कर दीजिए।
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.