खजाने का रक्षक-3

Abhishek Chaturvedi

खजाने का रक्षक-3
(5)
पाठक संख्या − 202
पढ़िए

सारांश

अब आगे......!! ठेकेदार अपनी तैयारी पूरी कर चुका था और उसी तैयारी और प्लान के तहत वह शाम को गांव में जाकर नेता फोन लगाया और बोला"नमस्कार नेताजी मैं ठेकेदार बोल रहा हूँ रामपुर से"। ...
Rishabh Shukla
nice
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.