क्योंकि, मुझे तुमसे मोहब्बत है

Nivedita Grover

क्योंकि, मुझे तुमसे मोहब्बत है
(166)
पाठक संख्या − 25424
पढ़िए

सारांश

सारा, बॉलकनी में खड़ी होकर बाहर के रोमानी हुए मौसम को देख रही थी। मन्द -मन्द पवन चल रही थी। तभी हवा के एक झोंके ने उसके चेहरे पे ठहरी लटों को सहला दिया। उसके चेहरे पर झूलती उन लटों ने उसकी खूबसूरती को ...
Deepali Khare
अगला भाग कब आएगा.... बेहद खूबसूरत कहानी
रिप्लाय
Anchal Uttam
heart touching story
Anu Dubey
waooo....heart touching story ....agr story pdhte huye reader story ko imagin krne lge bilkul usme kho jaye ..... writer ki sabse bdi success h ......❤
रिप्लाय
Kavita Mehta
good story full of true love
Preeti Bajpai
sachcha pyr lena nhi dena janta.superb story
Babu Gaikar
उफ़ ! निशब्द ! अत्यंत संवेदनशील
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.