क्या सही क्या गलत

Seema Saini

क्या सही क्या गलत
(3)
पाठक संख्या − 13
पढ़िए

सारांश

लडकी का जीवन आज भी आसान नही है बचपन से ही उसे सिखाया जाता है कि तुम परायी हो हालांकि शिक्षा की वजह से बहुत बदलाव देखने को मिले हैं फिर भी गावों मे आज भी लडकियों की स्थिति बहुत खराब हैं ।
Pragya Bajpai
बहुत खूब, उत्तम,
रिप्लाय
Ankit Bhushan
आपकी लेखनी जबरदस्त प्रहार करती है समाजिक कुरीतियों पर, पर यहां आप थोड़ा सा चूक गए क्योंकि हम लड़के भी इससे अछूते नहीं..समाजीक परंपरागत तौर-तरीके हमारे पैरों में भी बेड़ियां डालती है..
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.