किसी से न कहना

सुधा आदेश

किसी से न कहना
(263)
पाठक संख्या − 17138
पढ़िए

सारांश

‘ दुल्हन के आगे फूल बिखेरती हुई , नीली आँॅंखों वाली सुंदर सी लड़़की की ओर क्या आपने ध्यान दिया था....?’ अमिता ने विवाह के स्वागत समारोह से लौटकर जूड़ा खोलते हुए आशुतोष से पूछा। ‘ क्योंं क्या बात है, ...
Sheela Gupta
very nice, aapki sabhi kahaniyo mei motivation hota h ,thankyou.👌👌👌👌👌👌👌
Sangita Ajmera
Nice.
रिप्लाय
Ashutosh Ashutoshsantos
nice
रिप्लाय
Singhaniya Monika
beautiful story
रिप्लाय
Kishwar Anjum
badhiya
रिप्लाय
Mamta Jha
Very nice story
रिप्लाय
Ajay Beniwal
nice story
रिप्लाय
Ajay
very emotional and sweet story
रिप्लाय
Jyoti Rishi
Ati uttam mn ko chu gai Excellent
रिप्लाय
P.s. Lovwanshi
बहुत अच्छी और सामाजिक ताने बाने में बुनी हुई कहानी है । सभी पात्र सकारात्मक भूमिका में है । अंत भी सुखद ।
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.