किसान

वरुणेन्द्र त्रिवेदी

किसान
(161)
पाठक संख्या − 5355
पढ़िए

सारांश

'किसान' हमारे देश मे किसानों की वास्तविक स्थिति तथा उनके जीवन की कठिनाइयों को उजागर करती एक कहानी है, ये कहानी आपके सामने फाँके करते किसान को ला कर खड़ा कर देगी, उनके बच्चों की चिटकी थालियों मे रखी रूखी रोटी और प्याज के बेस्वाद स्वाद से आपको परिचित कराएगी, ये कहानी आपको गरीब किसान की बहू की सूनी कलाइयों में बंधा काला धागा बनाएगी, ये कहानी आपको सूखे की मार झेलते गरीब किसान के बच्चों की भूख से अवगत कराएगी और महसूस कराएगी आपको जेठ की सांय सांय करती लपट...... ये कहानी पहुंचा देगी आपको नमक उगलती बंजर भूमि मे और धूल के नन्हे बवंडरों संग गोल चक्कर लगवाएगी।
Deepak Dwivedi
भारतीय किसान की जीवन शैली का बहुत ही सटीक चित्रण आपने अपनी कहानी में कियाहै. आपको बहुत सा धन्यवाद l
Aghori Vachan
One of the best stories on Pratilipi.
Sagar Nishad
आज के हालात का बहुत ही मार्मिक विवरण है ये कहानी या यूँ कहे कथा ।
Rahgeer
It's really tragic and harsh... But it's true though.... Hum bas dekhte rehte jate hai... Or ese hi na jane kitne "Ghurai" ya to sadme se mar jate hai ya khud hi Maut chun lete hai... Sarkar 2-3 lakh uske pariwar ko de deti hai ya keh deti hai.. ki bimari se mar gaya...
M P Saxena Saxena
अत्यंत मर्मस्पर्शी रचना ।
Rishi Malhotra
mujhe aisa lagta hai ke shayad ...... shabd nahi hai bolne ke liye, 😭😭😭
MANOHAR MALVIYA
bahut khub likha h apne ...lajawab
मधुर कुलश्रेष्ठ
मार्मिक कहानी, मैं स्वयं ग्रामीण बैंक में शाखा प्रबंधक हूँ, हकीकत है कहानी, लेकिन दूसरा पहलू यह भी है कि 50 -60 प्रतिशत लोग समर्थ होते हुए भी कर्ज नहीं चुकाते है, और इसका खामियाजा घुरई जैसे स्वाभिमानी लोगों को उठाना पड़ता है
prithvi raj dhandhal
बहुत सुंदर कहानी किसान की असली हालात पर
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.