काश! गृहणी भी अपना टाइम टेबल बना पाती

Vandana Verma

काश! गृहणी भी अपना टाइम टेबल बना पाती
(11)
पाठक संख्या − 624
पढ़िए

सारांश

गृहणी की व्यस्तता
Leena Dua
shabdon ka uttam chayan
रिप्लाय
Aruna Ramarao
sach hai!! nice content
रिप्लाय
sarika tiwari
ye to Hui grihini ki kahani sochiye Jo mahilayen job b karti hain or apna ghar b sambhalti hain unki kya halat hoti hogi...samay ki demand ye h ki aj har kisi pariwar me jobist bahu hi chahy...aise me dohri jindagi ki maar jhelti mahilayan 24 hour ki ATM machine bnke reh jati h..kuch had tak apni es barbadi ki jimmedar aaj ki pragatisheel ladkiyan bhi hain..
रिप्लाय
Anil Swarnkar
बहुत खूब।
रिप्लाय
Sanjay Verma
सही फरमाया है आपने सारी जिमेंदारियों को परिवार के हिसाब से यूं सहजता से निभाना समर्पण है परिवार के लिये ...
रिप्लाय
ईश्वर सिंह बिष्ट
वो तो ख़ुदा ही बना सकता है । ✍👌👌👌👍👍🙏🙏
रिप्लाय
Mr. Bonshie 'आदित्य'
bahut khoob vandana ji
रिप्लाय
Shubhika Garg
बहुत सुंदर रचना 👌👍सच काश !!!
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.