कांति भाई का तबादला

मनमोहन गुप्ता मोनी

कांति भाई का तबादला
(44)
पाठक संख्या − 2376
पढ़िए

सारांश

कांतिभाई बैंक कर्मचारी है। शिमला से बनारस तबादला हो गया है। बीवी बच्चे अभी शिमला ही हैं। बनारस में एक रोज सङक पर गरीब महिला बेहोश पङी मिलती है। वह उसे अस्पताल ले जाता है। डाक्टर उसका नाम पता पूछते हैं। वह बता देता है। महिला के बारे में कुछ नहीं जानता। डाक्टर महिला को इमरजेंसी में ले जाते हैं। इधर कांति भाई खिसक लेते हैं। उधर महिला के डिलीवरी में बेटा होता है। डाॅ शिमला के पते पर टेलीग्राम भेज देते हैं कि आपके बेटा हुआ हो। यह जानकर कांति भाई की पत्नी वहां आ जाती है और देखिए क्या होता है आगे।
Blogger Akanksha SAXENA
सुन्दर भाव आदरणीय
रश्मि सिन्हा
वाह, बहुत अच्छी कहानी, और पत्नी का चरित्र तो सीधा दिल मे उतर गया👌👌👌💐
हेम चन्द्र जोशी
मोनी जी एक और सुन्दर रचना। आनंद आया पढ़ कर। टेलीग्राम वाली बात थोड़ी देर सस्पेंस के बाद खुलती तो शायद कथानक और दिलचस्प हो जाता। 🙌🙌🌷🌷🌼👏👏
रिप्लाय
Rehan Aabid Ali Kazmi
Badiya kahani
रिप्लाय
Archana Varshney
अनोखी कहानी
रिप्लाय
Surekha sulodhia
अच्छी कहानी
रिप्लाय
Parmanand
बहुत अच्छी भावात्मक कहानी...
रिप्लाय
RAJENDRA CHOUDHRY
bahut achha,, kamal kiya moni bhai
रिप्लाय
Asha Shukla
bahut achhi kahani tarif ke liye shabd kam pad rahe hai bemisaal ,. ,,,,please meri bhi kahani ,,,,,unhen yad hai,,,,aur kamiyon ko batakar margdarshan karen
रिप्लाय
देवेन्द्र सिंह ठाकुर
लाज़वाब हैं। बहुत अच्छी लगी।
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.