करवाचौथी औरत

सुधा अरोड़ा

करवाचौथी औरत
(167)
पाठक संख्या − 16917
पढ़िए

सारांश

घर में कुतिया और कंप्यूटर एक साथ आए थे इसलिए सबने लकदक, भूरे रोएँदार, बिलौटे सी चमकती आँखों वाली कुतिया का नाम एकमत से फ्लॉपी रख दिया था। आज करवाचौथ का व्रत था और फ्लॉपी सो रही थी। अक्सर वह सुबह पाँच ...
Pramila Joshi
औरत तेरी यही कहानी।अच्छी कहानी
Harendra Pandey
A good level of interest, thanks
Nidhi Vyas
sahi ..insaan se zyada ahmiyat janvar ki hai...bahut sahi
Xay
Xay
boring story hai
Praveen Yadav
मिसेज सचान एक शानदार कृति
Aditya Pandey
कुछ समझ नहीं आया
आकांक्षा शिवहरे
इतना खूबसूरत लिखा है कि दिल छू गये एक एक शब्द।। आपने हमारे समाज में औरतों की असल स्थिति को दर्शाया है।। मान गयी मैं आपको।।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.