कजरी

indu sharma

कजरी
(11)
पाठक संख्या − 217
पढ़िए

सारांश

कथाकार — श्रीमती इन्दुशर्मा              काव्या आज ही इस शहर में पहली बार आयी थी उसका सलक्शन आई.टी. के अन्दर हो गया था। वह बहुत खुश थी। हालाकी उसके घर वालों ने उसे यह कोर्स करने के लिये मना ...
Sudhir Kumar Sharma
अद्भुत
रिप्लाय
Pramila Joshi
पुराने जन्म की अति उतम कहानी
रिप्लाय
laxmi Joshi
सुन्दर भाव पूर्ण अभिव्यक्ति रचनाकार को हार्दीक बधाई 🌹
रिप्लाय
Vijaykant Verma
पुनर जन्म की अदभुत कहानी
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.