एबॉर्शन

सुशील शर्मा

एबॉर्शन
(155)
पाठक संख्या − 12970
पढ़िए

सारांश

एबॉर्शन
Sakshi Chaudhary
बहुत खूब ....👌👌👌👌
Pal Reetika
Ye soch hmare desh se khbi Ni khatam hogi
Mukesh Verma
समझदार बहू सास भी खुश और भ्रूड़ हत्या से भी बचे
rajesh sharma
कुछ बातें ऐसे ही समझाई जा सकती हैं।
Pooja Thakur
कम शब्दों में बहुत ही गहराई है इस कहानी में। अति उत्तम
Upasna Jain
maa ko uski santaan pyaari hoti hai
शिल्पी रस्तोगी
कम शब्दों में गहरी बात कही है ..।
Neetu Gambhir
शान्त चित औऱ बुद्धि से हर समस्या का हल मिल जाता है।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.