एक लड़की

शुभेन्द्र सिंह

एक लड़की
(57)
पाठक संख्या − 2413
पढ़िए

सारांश

जब किसी को देखकर शब्दो की बरसात होती है,तो पीरो लो उन शब्दों की एक माला,बस वही से शायरी की शुरुआत होती है ................................
Geeta Rajput
bahot khub janab.....kya baat he
रिप्लाय
Shikha Singh
बहुत ही अच्छी रचना 👌👌👌।
Neha Mishra
बहुत सुंदर रचना
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.