एक प्रेम कहानी ऐसी भी

Sneh Bharti

एक प्रेम कहानी ऐसी भी
(132)
पाठक संख्या − 15760
पढ़िए

सारांश

वर्ष 1980 की बात रही होगी जब मैं किसी काम के सिलसिले में अमृतसर आया था। अचानक मेरी भेंट बुआ जी के बेटे प्रेम से हो गई। बातों बातों में उसने पूछ लिया आजकल कहाँ हूँ मैं। मैंने बताया कि चंडीगढ़ में नौकरी ...
Vijay Shanker Bajpai
विमल और प्रमोद के त्याग की कथा असीम।प्यार पर समर्पण की समज्को झकझोरने वाली प्रेरणादायक कथा।
ravinder agarwal
पूरे जहां में इस प्रेम को परिभाषित नही किया जा सकता। इतना अटूट विश्वास एक दूसरे पर। नायक नायिका को सलाम।
Kalpana Srivastava
very nice a heart touching story
Hemant MOdh
भाई साहब आपकी रचना को पढ़कर, आपके प्रति मन में अनायास ही बहुत सम्मान महसूस कर रहा हूं, आपके विचार, लेखन को प्रणाम... साधुवाद, हार्दिक शुभकामनाएं...! निवेदन है "प्यार का एहसास" पढ़िएगा, प्रतिक्रिया के इन्तजार में...
Harish Hans
Bahut achhi laggi...!!
राजेश सिन्हा
अब तक पढ़ी गयी सबसे अच्छी प्रेम कथा। साधुवाद।
SACHIN GOSWAMI
बेहद अच्छा विवरण । रोचक कहानी एक बड़ी सीख के साथ । प्रेम दिल से किया जाता है देह से नही ।त्याग और समर्पण प्रेम की पहली सीढी है ।
Pawan Pandey
त्याग और प्रेम की भावनाएं लिए एक अदभुत ,बेहतरीन प्रेम की कहानी जो हृदय को स्पर्श करती हैं
रिप्लाय
Satish Bhawsar
बहुत ही अच्छी रचना सरल शब्दों में बहुत ही गूढ़ अर्थ के साथ सुन्दर प्रस्तुति के लिये बधाई 🙏🙏
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.