एक औरत की कहानी

संजना किरोड़ीवाल

एक औरत की कहानी
(539)
पाठक संख्या − 20690
पढ़िए

सारांश

हर घर में एक साधना जरूर होती है ,,, औरत को सम्मान दे प्यार और अपनापन दे , वापसी में आपको दुगुना ही मिलेगा .... हर घर की कहानी हर औरत की कहानी शायद इसी से मिलती जुलती है
mohit sharma
faltu h real life m aisa kuch nhi hota h.
Mukesh Dhaka
बहुत ही सही लिखा है। औरतो का यही हाल हर जगह। इसे बदलने की जरूरत है। शायद आपकी कहानी इसका जरिया बने। मै भी आगे से ध्यान रखुगा।
नीना
अपना ध्यान स्वयं रखना पड़ता है। किसी से अपेक्षा करना बेकार है। रचना थोड़ी हल्की है।
Mujassam Husain
आज की सच्चाई
Vijaya Pareek
कहानी बहुत दमदार हैं, पर आज के लड़कों में understading आ गयी हैं, वे भी बराबर सहायता करने लगें हैं,
ravinder agarwal
karari chot kahani ke madyam se.
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.