एक्स्ट्रा

Vikashree Kemwal

एक्स्ट्रा
(315)
पाठक संख्या − 14682
पढ़िए

सारांश

प्यार के झूठे खेल का काला सच सामने लाती एक कहानी
Vaani Ji
samne wale ko galti ka ahesas karakar usse maaf kar dena chaye....karma khud hi waqt ke sath sab sabak sikha deta hai...jaisa ki iss kahani mei hai...achi kahani 👍
Shubham Raturi
बहुत सुंदर कहानी लिखी आपने... अनामिका गलत थी उसके क्षणिक आवेश ने एक जिंदगी तबाह कर दी और समीर ने भावावेश में ऐसा निर्णय ले लिया जिसे सर्वथा अनुचित ही कहा जाएगा... संघर्ष ही जीवन है।
bhagirath choudhary
बहुत सुन्दर
यामिनी परिहार
नहीं ईश्वर बदला नही ले रहे अगर ऐसा होता तो समीर के निवेदन से वो उसी का हृदय परिवर्तित कर देते या परिस्थियां ही कुछ ऐसी कर देते की ऐसा नही होता ...हाँ सायद ये व्यक्तित्व ही ऐसा हो जिसे रिक्तता ही हमेसा नज़र आती हो .... सायद ऐसा हो ...क्योंकि आपकी रचना कहि न कही कुछ समय के लिए ही सही हर किसी के जीवन मे घटित हुई होगी...जिससे अपने स्वानुभव कर आधार पर पर मेरे ये विचार है आपकी रचना बहुत अच्छी है और यथार्थ से जुड़ी हुई है....बहुत बहुत धन्यवाद💐💐💐💐💐💐💐💐
रिप्लाय
Shanti Dihiye
galthi anamika ki thi ya umra ki, par thi galath, samir ne jo sahan kiya uska kuch toh mulya chukana zaruri hai, jo anamika chukarahi hai,
Rajan Mishra
बहुत ही खूबसूरत रचना है
Sohan Dabiyal
बहुत ही बढ़िया लेख
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.