एक्सीडेंट

जितेन्द्र गोयल

एक्सीडेंट
(35)
पाठक संख्या − 3287
पढ़िए

सारांश

करीब डेढ़ घंटे बाद डॉक्टर बाहर निकला और मुस्कुराते हुए बोला , ” भगवान् का शुक्र है आपका बेटा अब खतरे से बाहर है। “ यह सुनते ही लड़के के परिजन खुश हो गए और डॉक्टर से सवाल पर सवाल पूछने लगे , ” वो कब तक पूरी तरह से ठीक हो जायेगा…… उसे डिस्चार्ज कब करेंगे….?…” पर डॉक्टर जिस तेजी से आया था उसी तेजी से वापस जाने लगा और लोगों से अपने सवाल नर्स से पूछने को कहा....
cijay
mast ,emotional
Aaliya Khan
heart touching story
Jitendra Mathur
बहुत ही सुंदर अभिव्यक्ति वाह ।।
सत्या शर्मा
बहुत ही अच्छा लिखा है आपने
कल्पना भट्ट
नकारत्मक टिपण्णी देना आम बात है । बिना सोचे समझे अपने आप को प्रूव करने के लिए बिना सोचे समझे कुछ भी बोल देते है । बहुत अच्छी कहानी ।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.