उस रात की गंध

धीरेन्द्र अस्थाना

उस रात की गंध
(215)
पाठक संख्या − 85427
पढ़िए

सारांश

लड़की मेरी आँखों में किसी अश्लील इच्छा की तरह नाच रही थी। 'पेट्रोल भरवा लें।' कह कर कमल ने अपनी लाल मारुति जुहू बीच जानेवाली सड़क के किनारे बने पेट्रोल पंप पर रोक दी थी और दरवाजा खोल कर बाहर उतर गया ...
Dr dipti Bhardwaj
बहुत गहराई है, दर्द भी।
Age
Age
यही प्यार है
Rahil fatma
ज़बरदस्त राइटिंग ....निर्भीक अंदाज़, लफ़्ज़ों पर खूबसूरत पकड़, सच्ची रचना के तमाम रंग इस कहानी में मौजूद हैं , बेहद बेहद बेहतरीन अंदाज़।आपको हज़ार मुबारकबाद,,,👍
सुनीता माहेश्वरी
समाज का कड़वा सच पर मेरे लिए सब कुछ अजूबा है।
Manoj Tyagi
yaar vastav me jeevant story he aapne jaavan ko karib se padha he shayad
Neha Neha
shaandaar subject👍
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.