उलझन दोस्ती की 18

नीरज शर्मा

उलझन दोस्ती की 18
(136)
पाठक संख्या − 10332
पढ़िए

सारांश

राजेश नैना की बात सुन कर हैरान रह गया। नैना - क्या हुआ? चौंक गये? तुम्हारा झूठ पकडा जा चुका है मि. राजेश। तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई ऐसा करने की। राजेश अब खुद को संयमित कर बोला - मैने जो भी किया, सिर्फ ...
yunika singh
mujje pata tha ki Rajesh Naina ko dhoka nhi dega..
रिप्लाय
Aarti
its awesome and peaceful
रिप्लाय
VIKASH KUMAR
bole to jhkkkassss
रिप्लाय
Hemlata Jain
बहुत बहुत बहुत लाज़वाब कहानी 👌👌👌👌
रिप्लाय
Neeharika Saxena
uljhan mohabbat ki... k part kitne h or kaise milenge. Pls btay
रिप्लाय
Mamta Shalu
mene abhi subah ye story dekhi or poori pd b li.. bahut acchi story h.. rajesh naina ki story shuru ho gyi kya... agar haa to uska name kya h... mujhe wo b pdna h..
रिप्लाय
Sonal Shrivastava
nice story
रिप्लाय
Diksha Jain
I like this story so much
रिप्लाय
ravi Meena
thanks
रिप्लाय
Akriti Raman
ek feel aya ye story padh kr jo mere jindagi se kisi ne chin lia hai.. Aj laga ki kaash vo pal fr se aa jaye or Mai usse gaale se laga lu...
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.