"""इश्क के रंग हजार "'

Suman Chaudhary

(8)
पाठक संख्या − 388
पढ़िए

सारांश

''यही प्रॉब्लम है तुम लड़कियों की , कि तुम दिमाग की सुनती हो दिल की नहीं.एक हद के बाद दिमाग चालाकी करता है,दिल नहीं.. आखि़र चाहते क्या हो?
Sonu Kumar
यही सच है यह भी सच है की आप की कहानी बहुत अच्छी है मैं चाहता हूं आगे भी अच्छी हो कोई गलती ना हो तुमसे कुछ ऐसा समय आता है जिंदगी में समय के साथ ठीक हो जाता है बस थोड़ा संभल के चलना होता है....
Ashok Chaudhary
interesting story
रिप्लाय
Ali Akbar
crisp and compact writing
रिप्लाय
shobhana tarun saxena
feeling elated to read this type of penn downs .. my best wishes 👌 please do read my stories too 🙏
Vandna Sharma
Very nice
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.