इत्र का राज

Abhishek Chaubey

इत्र का राज
(72)
पाठक संख्या − 4472
पढ़िए

सारांश

दोस्तों, यह कहानी बहुत ही रोचक है, इस कहानी में आपको प्रेम,भ्रम,बदले की भावना मुख्य रूप से देखने को मिलेगा,एक मीठा सा नवजात प्रेम,राजकुमारी किष्किंधा,और अजिनेश के बीच पनपता हुआ नज़र आएगा।
Usha Garg
sunder story
रिप्लाय
Nikhil Sharma
nice story next part kab tak aayega kuch jyada hi lamba intzaar krwa rhe ho aap 31 oct. se feb.aa gyi h jaldi hi next part lekar aaye please.
रिप्लाय
Kajal Patel
next part ?
रिप्लाय
Ruchi Sumit Agrawal
nxt part kb tk aayega plx thora jld uplode kijiyega
रिप्लाय
Pooja Arora
awesome story .waiting for next part
रिप्लाय
raginee singh
interesting... I'm waiting for next part...
रिप्लाय
Sonia Rawat
next part?
रिप्लाय
Tr Ashish Maheshwari
Abhishek ji , sabse pahle aapke exams k liye aapko shubhkaamnayein ki aap isme hi nahi sabhi exams me safalta prapt karein , aapki kahani k agke bhag ka intizar h. all d best, gud luck
रिप्लाय
Govind Pandey
ठीक ही है जी ।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.