इंतकाम

अनंत भरद्वाज

इंतकाम
(138)
पाठक संख्या − 8552
पढ़िए

सारांश

प्रेम और प्रेम में बदले की एक मजेदार कहानी
Rajni Gupta
dono hi galat the sahil bhi husain bhi😐😐
सोनम त्रिवेदी
waah bahut he achhi kahani likhi aapne
Uday Pratap Srivastava
बहुत ही अच्छी कहानी
Santosh Bastiya
शब्द नही है तारीफ के, बहुत बढ़िया। कृपया मेरी रचना 'अंधेरो के साये' जरूर पढ़ें ।और अपना मूल्यवान समीक्षा जरूर दें।
Shikha Shukla
it wz a nyc one I wz imagining that evrythng wz happening ryt infrnt of me..
Minhaz Khan
A good Story with perfect ending
Mamta Parnami
no words 👌👌👌👌👌
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.