आभासी रिश्ता

आशीष कुमार त्रिवेदी

आभासी रिश्ता
(198)
पाठक संख्या − 8201
पढ़िए

सारांश

सोशल मीडिया की आभासी दुनिया में कभी कभी ऐसे रिश्ते बन जाते हैं जो उस खालीपन को भर देते हैं जिसे आसपास के लोग समझ भी नहीं पाते। दो वरिष्ठ नागरिकों देवराज और शारदा के बीच दोस्ती के ऐसे ही रिश्ते की कहानी 'आभासी रिश्ता'
Tanu Goyal
achi Rachna h
रिप्लाय
Padmini Solnki
bhut achi kahani thi. muje bhut pasnd ayi
DEVIS DEVAN
bahut hi behtarin kahani thi kisi anjane rishte ki gehraiyon ko napti hui yeh kahani dil ko chhu gayi👌👌👌👏👏👏
रिप्लाय
Digamber bhengra
ऐसे बहुत से आभासी रिश्ते होते हैं परंतु आपके आभासी रिश्ते अच्छा लगा।
रिप्लाय
Dheeraj Kumar
अतिसुंदर..
रिप्लाय
Nisha Jain
Very nice
रिप्लाय
Poonam Tiwari
Very nice story
रिप्लाय
Neelima Mishra
दिल को छू लेने वाली बेहरतीन रचना
रिप्लाय
Deepak jha
Bantu sundar
रिप्लाय
Renu
बहुत ही मार्मिक कहानी है। पढ़कर आँखें नम हो गई।
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.