आधी मोहब्बत

नीरज शर्मा

आधी मोहब्बत
(28)
पाठक संख्या − 4102
पढ़िए

सारांश

तुमने पक्का सोच लिया है? - महेश ने डबडबाती आँखों से कहा। हाँ, और यहीं मेरा आखिरी फैसला है- दुलारी ने पूरे स्वाभिमान के साथ कहा । सुन कर महेश की आँखों से आँसू छलछला गए,उसका गला रूँध गया। उसने दुलारी ...
Pooja Sharma
खूबसूरत कहानी
रिप्लाय
ranjita kabiraj
dulari rupa k bare Mai soch k hi Aisa kiye, Apne se jyada dulari Ko dusreka fikar jyada hai
रिप्लाय
suman
aadhi story pdh k kya fayeda😏
रिप्लाय
pranali gathibandhe
Dil me bs gyi Aapki rachna 👌
रिप्लाय
Rajlakshmi Swami
nice story
रिप्लाय
Asha Shukla
बेहद खूबसूरत कहानी।अलग हटकर थी इसीलिए और भी अच्छी लगी।आपका लेखन बहुत ही अच्छा है।
रिप्लाय
anupam Mishra
,
रिप्लाय
Rohan Preet
Kahani ka di दी एन्ड कुश खाश नहीं लगा
रिप्लाय
Asmi Srivastava
nice
रिप्लाय
Khushi Priyanka Gupta
bahut hi alag kahani hai..
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.