आत्म-सम्मान

संजना किरोड़ीवाल

आत्म-सम्मान
(566)
पाठक संख्या − 21357
पढ़िए

सारांश

किसी को प्यार बाटने से पहले खुद से प्यार करना सीखे ... यही सारांश है इस कहानी का
Dhruuv Singh
Nimmo ke character ko thoda aur space dekar uski kuchh achchhayian aur dikhani chahiye thi.
Vandna Sharma
I m impressed with your story. Kya meri dost banegi. Meri I'd vandna.reporter@ gmail.com
Puja Kedia
amazing story aaj v ladki k raang r roop Ko lakr uspr comments Kiya jata h uska aatmavishwas Ko todh diya jata h
Vibhor Gaur
wah... saarthak kahani
Hemalata Godbole
वाह ये कहानी आपकी है।नाम नही देखपाई पर समझ गई।शुभंभवतु।
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.