आत्माओं से बातें

पूर्ति खरे

आत्माओं से बातें
(204)
पाठक संख्या − 24103
पढ़िए
BHUPESH VERMA
kuch kami si hai kahani me.. dar paida hona chahiye padhne wale k man me aur wo hi nhi hua
Mukul pulastya
सुन्दर प्रस्तुतीकरण, ..
Upendra Kumawat
काल्पनिक परन्तु वास्तविक
गीता रस्तोगी
बात किसी हद तक सही है।प्रस्तुतिकरण का तरीका हरेक का अपना होता है।अनदेखे की सच्चाई को बयान करना सचमुच एक कठिन कार्य है।आपका प्रयास काफी ठीक है।
aps raj
bakwas, jaldbadi m niras see pratit hoti h, aap aur bhee achechha kr skte the.
Brajesh Kumar
mujhe Samajjh nhi aayi
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.