आत्महत्या

Ankur Mishra

आत्महत्या
(9)
पाठक संख्या − 388
पढ़िए

सारांश

किसी भी अन्यथा की स्थिति में परिवार की नयी बहू को ही उपालंभ देने की सामाजिक विधा पर प्रहार करती कहानी ।
मुद्रिका गुप्ता
बहुत ही बेहतरीन👍👍👌👌
रिप्लाय
Kalpana Chauhan
bht bdhiya
रिप्लाय
Rajeev Kumar Singh
बढ़िया
रिप्लाय
Anamika Yadav
Good
रिप्लाय
Laxmansingh Laxman
nice story.
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.