आखिरी मुलाक़ात

शुभम श्रीवास्तव

आखिरी मुलाक़ात
(104)
पाठक संख्या − 10322
पढ़िए

सारांश

"आखरी मुलाक़ात..!!"   Everyone has a past, no matter how beautiful their smile may be. There is always a heart breaking story which has changed them!! उसे अच्छी तरह से याद है यही दीवाली के दिन था लड़का उसकी गली में मैच खेल रहा था.. उसी नोक झोंक में कब प्रेम हो गया पता ही नहीं चला! उससे बात शुरू करने में ही लड़के को 5-6 महीने लग गए..पर वो मान ही गयी!! दोनों के साथ गुज़रे 6 साल जीवन के सबसे अनमोल पलो में से रहा है और हमेशा रहेगा।सच बताऊँ तो जिंदगी के 60 साल में कोई एक विश मंगनी हो न तो लड़का हर बार यही मंगेगा के ये 6 साल 10 बार रिपीट हो! :) खैर बहुत कुछ unexpected ही रहा है और उनकी आखिरी मुलाक़ात तो सपने में भी नहीं सोची गयी थी ा.. उससेे मिलना हमेशा से ही स्पेशल रहा है। शाम को 7 बजे लड़की की मम्मी का फोन आया
uttama dwivedi
बहुत ही उम्दा बेहतरीन कृति है जनाब 👌 👌 आपकी। प्यार प्यार होता है और ताउम्र उसी से रहता है।हम चाहे दूर क्यों न हो जाए लेकिन प्यार कभी दूर नहीं होता है। हमेशा हमारे साथ रहता है। मिलकर बिछड़ने वाले ज्यादा अच्छे से समझ सकते हैं।🙏🙏🙏👏👏💞🤗
Neha Bhati
beautiful ❤️❤️
manish
वक्त में बहोत ताकत होती है बहोत कुछ भूला देती हैं,,,,,
Purhythm
बहुत बढ़िया
Vimal Saxena
अतिसुन्दर प्रस्तुतिकरण
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.