आईना

विनीत शर्मा

आईना
(88)
पाठक संख्या − 1920
पढ़िए

सारांश

अपना आत्मविश्वास खोई एक लड़की की प्रेम कहानी, जीवन मे प्रेम आते ही आत्मविश्वास की चमक लौट आयी।
klpna
wah!!
रिप्लाय
Santosh Bharti
बहुत अच्छी रचना है इससे मनोबल बढ़ रहा है लोगो का
रिप्लाय
Deepak Kumar
saccha pyar Surat Nahi dekhta.acchi kahani.
रिप्लाय
Anupama Agarwal
ये कहानी शायद हर सांवली रंगत वाली लड़की को अपनी सी लगेगी।क्योंकि अक्सर उस कच्ची उम्र में सभी सिर्फ़ रंग-रूप की ओर ही आकर्षित होते हैं।प्रेम में परिपक्वता नहीं होती उम्र के उस मोड़ पर।बस जरूरत है तो सिर्फ़ खुद में आत्मविश्वास जगाने की👌👌👌
रिप्लाय
Pooja Yadav
aapki sabhi rachna lajwab h sir
रिप्लाय
pari sharma
behd khub ishq k rang k aage har rang fika h ye apne is rachna me sabit kr diya
रिप्लाय
Suchitra Mishra
jo chehare ki badsurati dekhte h... aksar unke hi dilo me daag hote h
रिप्लाय
Usha Garg
विनीत जी पराया इश्क पढ़ी थी इतनी अच्छी लगी की फिर आपकी लाइब्रेरी से ढूढ़ कर आइना पढ़ी
रिप्लाय
Shalini Verma
kuch log bahri sundarta par dhyan dytay hy
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.