अशीर्वाद

डॉ.प्रणव भारती

अशीर्वाद
(10)
पाठक संख्या − 1169
पढ़िए

सारांश

कितने विलंबों के उपरान्त भी उसके आगमन की छुअन जीवन के एक निश्चित किनारे पर आकर थम गई है. वैसे उसने प्रतीक्षा छोड़ दी थी,क्या करना ---उसका जीवन आवारा बादल सा भटकता रहा है,आधी तो कट गई ,बाक़ी भी यूँ ही ...
Bharati Bindoo
एक दुविधा दूर करें करें अशिर्वाद होता है या आशीर्वाद ??😍😍
Vanita Handa
हृदयस्पर्शी कहानी
शिव पाण्डेय
उत्तम कहानी विदेशो में अपनों के लिए नर्क सी जिंदगी जीने की विवशता ।
Sharda Rani Shukla
Kitani vivashta ko darshati ye kahani bahut achhi ban padi hai
Rajiv Kalra
Foreign jaana hai ji... Superb story
मंजू महिमा
पूर्व-पश्चिम की सभ्यता के बीच झूलती बड़ी ही सुन्दर कहानी...एक भारतीय औरत के विश्वास और आस्था को बड़ी ही खूबी से लेखिका ने उकेरा है...बधाई...मंजु महिमा
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.